वाइरस – VIRUS ( virus diseases )

वाइरस – VIRUS तंबाकू के मोजाइक रोक का अध्ययन करने के दौरान रूसीवैज्ञानिक इवानोवस्की ने 1892 ई. में ‘विषाणु’ की खोज की।

Antibody test, Allergy – एंटीबॉडी, एलर्जी

Allergy – एलर्जी, Antizen – एंटीजन, Antibody – एंटीबॉडी, Antipyratics – एंटीपाय रेटिक्स, Anaesthetics – एनेस्थेटिक्स, Analgesics – एनलजेसिक, Antihistamin – एंटीहिस्टामिन, Tranquilizer – ट्रानक्वैलाइजर, Vaccine – वैक्सीन, Cancer – कैंसर

Vaccine meaning – वैक्सीन

Vaccine – वैक्सीन इसका प्रयोग शरीर के अन्दर बीमारियों से लड़ने के लिए प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए किया जाता है। “वैक्सीन’ (टीका) में कमजोर एवं मृत

Genetic disorders – आनुवंशिक रोग

Genetic disorders – आनुवंशिक रोग :- वर्णान्धता (Colour Blindness) इसके रोगी ‘लाल’ एवं ‘हरे’ रंग में भेद नहीं कर पाते हैं। यह रोग ‘X गुणसूत्र पर उपस्थित रहता है।

Structure of bacteria cells – जीवाणु

जीवाणु – BACTERIA’ की खोज 1683 ई. में एंटोनी वॉन ल्यूवेनहॉक द्वारा की गई तथा जीवाणु – BACTERIA नाम 1829 ई. में एहरेनबर्ग द्वारा रखा गया।

विटामिन – Vitamin

विटामिन की खोज 1881 में लुनिन ने की थी। विटामिन शब्द या विटामिनवाद 1912 ई. में वैज्ञानिक फुक (Funk) के द्वारा दिया गया। विटामिन को 2 वर्गों में विभक्त किया गया है

खनिज लवण किसे कहते हैं – what are mineral salts

खनिज लवण – Mineral Salts ;- खनिज लवण ये भोजन के अकार्बनिक घटक होते हैं, जो शरीर की उपापचयीय क्रियाओं ( Metabotic Activities ) का नियन्त्रण करते हैं।

Calories value in food – कैलोरी क्या है

Calories Value In Food – कैलोरी क्या है एक सामान्य व्यक्ति को प्रतिदिन भोजन में 450 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 100 ग्राम प्रोटीन तथा 80 ग्राम वसा लेनी चाहिए।

Balanced Diet – What Balanced Diet

Definition for balanced diet – संतुलित आहार किसे कहते हैं, संतुलित आहार और उसका हमारे जीवन में महत्‍व भोज्य पदार्थों के वे सभी आवश्यक अवयव, जो मनुष्य की शारीरिक क्षमता एवं कार्यकीय सक्रियता’ (Physiological Activities) को अक्षुण्ण रखने तथा उनमें अभिवृद्धि हेतु आवश्यक होते हैं, “संतुलित आहार’ कहलाते हैं।

Essential elements in plants – पौधों में आवश्यक पोषक तत्व

Essential elements in plants – पौधों में आवश्यक पोषक तत्व :- पौधों के विकास में हार्मोन्स के साथ-साथ कुछ विशिष्ट तत्वों की भी निर्णायक भूमिका होती है। ये तत्व मुख्यतया निम्न