गुप्तोत्तर काल के प्रमुख राजवंश

गुप्तोत्तर काल के प्रमुख राजवंश – पाल वंश, चालुक्य, राष्ट्रकूट वंश, पल्लव वंश, गंग वंश, चोल वंश पाल वंश की स्थापना बौद्ध धर्म के अनुयायी गोपाल (750-770 ई.) ने की थी।

प्रजामण्डल आंदोलन – Prajamandal Movement

प्रजामण्डल आंदोलन – नागरिको के मौलिक अधिकारों की बहाली करने के उद्देश्य से किये गये आंदोलन प्रजामण्डल आंदोलन के नाम से जाने जाते हैं। 

राजस्थान का एकीकरण – Rajasthan ka Ekikaran

राजस्थान का एकीकरण – राजस्थान का एकीकरण 7 चरणों में पूरा हुआ राजस्थान का एकीकरण 18 मार्च 1948 से शुरू होकर 1 नवंबर 1956 को पूरा हुआ इसमें 8 वर्ष 7 माह 14 दिन लगे।

किसान आंदोलन – बिजौलिया,बेंगू,नीमचणा,शेखावाटी,मेवाड़

किसान आंदोलन – बिजौलिया में 1897 ई. से किसान आंदोलन शुरू होता हैं। यह आंदोलन ‘धाकड़’ जाति के किसानों द्वारा किया गया। किसान आंदोलन के मुख्य कारण

जाट वंश ( भरतपुर ) – Jat dynasty

राजस्थान के पूर्वी भाग भरतपुर, धौलपुरस डींग आदि क्षेत्रों पर जाट वंश का शासन था। सूरजमल को ‘जाटो का प्लेटों’ और ‘जाटो का अफलातून’ कहते हैं। 

करौली का इतिहास ( यादव वंश ) – History of Karauli

करौली का इतिहास ( यादव वंश ) – करौली में यादवों की ‘जादौन’ शाखा थी। स्वामी दयानन्द सरस्वती सबसे पहले (राजस्थान में) करौली मदनपाल जी के निमत्रंण पर आए थे।

भाटी वंश का इतिहास ( जैसलमेर ) – History of Bhati Dynasty

भाटी वंश – भाटी भगवान श्रीकृष्ण के वंशज हैं। भाटी यदुवंशी होते हैं, इसलिए जैसलमेर के राजचिन्ह में ‘छत्राला यादवपति’ लिखा हुआ हैं। 

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

I Have Disabled The AdBlock Reload Now